Trending

प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए pregnancy test kit in Hindi

घर में प्रेग्नेंसी टेस्ट करने के लिए सामान्यतः बाज़ार में आसानी से उपलब्ध प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का उपयोग किया जाता है. बाज़ार में आज के समय प्रेग्नेंसी टेस्ट किट कई अलग अलग कम्पनियों द्वारा बना कर बेचा जाता है.
प्रेगनेंसी टेस्ट किट काम कैसे करता है, पीरिएड मिस होने के कितने दिनों बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे, प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए, प्रेगनेंसी टेस्ट किट की सत्यता कितनी है, pregnancy test kit in Hindi,

प्रेग्नेंसी टेस्ट किट काम कैसे करता है.
How work Pregnancy Test Kit in Hindi.

प्रेगनेंसी टेस्ट डिवाइस की सहायता से प्रेग्नेंसी टेस्ट करने के लिए मूत्र का उपयोग किया जाता है. प्रेगनेंसी टेस्ट किट मूत्र में एक विशेष प्रकार के हॉर्मोन की पहचान करता है जिसके आधार पर ही प्रेग्नेंसी की स्तिथि का पता लगाया जाता हैं. जैसे ही निषेचन होता है उसके कुछ ही दिनों  (सामान्यतः 10 दिन ) बाद ही एक विशेष हॉर्मोन शरीर में बनने लगता है, जो की मूत्र में भी पाया जाने लगता हैं इस हॉर्मोन को HCG कहते हैं. टेस्ट किट इस HCG हॉर्मोन को ही पहचानने का काम करता है. 
प्रेगनेंसी टेस्ट करने के 8 घरेलू तरीके
प्रेग्नेंसी टेस्ट कब करना चाहिए
Time of Pregnancy Test Kit in Hindi.

आपके मन में सवाल आया होगा कि पीरिएड मिस होने के कितने दिनों बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे तो एक्सपर्ट की माने तो प्रेगनेंसी टेस्ट कम से कम संबन्ध बनाने के बाद, जब पहली बार पीरियड न आए तो उसके अगले दिन करना चाहिए. वैसे पीरियड मिस होने के एक हफ्ते बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करना चाहिए  क्योंकी एक हफ्ते बाद प्रमाणिकता अधिक होती है. HCG हार्मोन एक महिला के शरीर में तभी बनता है जब फर्टीलाइज़ड एग यूट्रस में प्रत्यारोपित (इम्प्लांट) होता है. अंडे का प्रत्यारोपण, स्पर्म और अंडे के मिलन के 6 दिन बाद होता है. यही कारण है की अगर प्रेगनेंसी टेस्ट बहुत जल्दी कर लिया जाए तो संभव होता है की महिला के प्रेग्नेंट होने की स्तिथि में भी टेस्ट नैगेटिव आ जाता है.
अगर टेस्ट नेगेटीव आ जाए लेकिन आपको प्रेग्नेंट होने का शक हो तो टेस्ट कुछ दिन बाद फिर से करना चाहिए ताकि स्तिथि बेहतर ढंग से साफ हो जाए.
प्रेगनेंसी टेस्ट किट का उपयोग करने से पहले टेस्ट किट पर दिए उपयोग करने के तरीक़ों और अन्य जानकारियों को ध्यानपूर्वक बढ़े. बताए गए अनुसार ही मूत्र एकत्रित करें और कितने देर तक किट को मूत्र के संपर्क में रखना है, यह भी कम्पनी द्वारा किट के पैक पर दिए निर्देशो के अनुसार ही करें.
कैसे करें घर पर गर्भावस्था की जांच
प्रेग्नेंसी टेस्ट किट की सत्यता कितनी है.
Accuracy of Pregnancy Test Kit in Hindi.

यह सवाल टेस्ट करने वालों के मन में बारबार आता है की जिस प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का उपयोग किया जा रहा है क्या उसके द्वारा दिया गया रिज़ल्ट सही है या नही. इस सवाल का जवाब यह है की प्रेग्नेंसी टेस्ट किट की प्रमाणिकता 99% तक है अर्थात 100 बार जांच करने पर 99 बार सही रिपोर्ट मिलते हैं. हालांकि यह आंकड़े उच्च गुणवत्ता वाले प्रेगनेंसी टेस्ट किट के सन्दर्भ में है. इसलिए ज़रूरी है की जब भी प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का उपयोग करें तो यह बात कन्फर्म कर लें की वह अच्छी कम्पनी का ही हो.

प्रेगनेंसी टेस्ट किट से संबंधित एक और सवाल है जो की मन में आता रहता हैं की क्या सुबह के समय (दिन का पहला) मूत्र ही उपयोग करना चाहिए, तो इसका जवाब है की पूरे दिन में किसी भी समय के मूत्र का उपयोग किया जा सकता है लेकिन टेस्ट किट द्वारा सुबह के समय प्रेग्नेंसी टेस्ट करना अच्छा होता है. क्योंकी सुबह सो कर उठने के बाद  जब मूत्र त्याग किया जाता है, तब उस समय मूत्र में HCG हार्मोन की मात्रा ज्यादा होती है.
Pregnancy tips in hindi
एक और सवाल उठता है की क्या टेस्ट किट से जांच के बाद भी खून जांच के माध्यम से प्रेग्नेंसी कन्फ़र्म करना ज़रुरी होता है?
तो जैसा के ऊपर बताया गया है की प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का उपयोग सही रूप से किया जाए तो 100 बार जांचने पर 99 बार आया रिपोर्ट सही होता है. फिर भी खून जांच के माध्यम से HCG के स्तर की जांच ज़रुर करवानी चाहिए ताकि शरीर में HCG के सही स्तर का पता लगाया जा सके. इसके अलावा HCG के स्तर का अध्ययन कर के ही गर्भपात जैसे संभावित खतरे को भी समझा जा सकता है तथा इसकी मदद से ही एक्टोपिक प्रेग्नेंसी (कोख के बाहर की प्रेग्नेंसी) को भी समझा जाता है.
नॉर्मल डिलीवरी के घरेलू उपाय

तो आज की पोस्ट में आपने जाना की लेकिन प्रेगनेन्सी टेस्ट किट कैसे काम करता है और पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे. प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए तो यह टेस्ट पीरियड मिस होने के सप्ताह भर बाद में करना चाहिए. प्रेगनेंसी टेस्ट किट से संबंधित आज की पोस्ट आपको कैसी लगी हमें जरूर बताएं आपकी कोई सलाह या सवाल हो तो कमेंट बॉक्स या ईमेल के माध्यम से बता सकते हैं.

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post