Trending

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण । Pregnancy symptoms after ovulation in hindi

हर महिला के साथ यह सामान्य जिज्ञासा होती हैं की प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है. सामान्यतः अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण दिखने लगते हैं, लेकिन हम इसे जल्दी पहचान नहीं पाते हैं. अंडा फटने का मतलब है ओवुलेशन पीरिएड शुरू होना. पिछली कुछ पोस्ट्स से आपने यह तो जान लिया होगा कि ओवुलेशन पीरिएड में संबंध बनाने से गर्भधारण होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है. आज हम गर्भधारण होने के बाद गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण (प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक) के बारे में बात करेंगे. गर्भावस्था पर अंग्रेजी ब्लॉग में तो काफी जानकारी मिल जाती है लेकिन हिंदी ब्लॉग में इस बारे में काफी काम होना अभी बाकी है इसलिए आज की पोस्ट में हिन्दी में अंडा फटने के बाद गर्भावस्था, गर्भधारण की संभावना, लक्षण आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान करेंगे.

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण, प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक, पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण
{tocify} $title={Table of Contents}

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण । Pregnancy symptoms after ovulation in hindi

गर्भधारण कैसे होता है यह तो आपने पहले की पोस्ट में जान लिया है इसलिए आज हम आपको बताते हैं की ओवुलेशन के बाद प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है. एक महीने की प्रेगनेंसी के लक्षण कैसे दिखते हैं इस बारे में भी आज चर्चा करेंगे. अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण (pregnancy symptoms after ovulation) के बारे में जानकारी प्राप्त कर आप पीरियड आने से पहले ही प्रेगनेंसी के लक्षण को पहचान सकती है.

1- पेशाब के रंग में परिवर्तन

पेशाब के रंग में परिवर्तन होना गर्भावस्था का पहला लक्षण माना जाता है. ओवुलेशन के बाद यानी अंडा फटने के बाद महिला के शरीर में गर्भावस्था हेतु परिवर्तन आना शुरू हो जाता है. इस दौरान जब भी कोई महिला गर्भधारण करती है तो सबसे पहले उसके पेशाब का रंग पीला होने लगता है क्योंकी जब कोई महिला प्रेगनेंट होती है तो उस महिला की किडनी पेशाब को अच्छी तरह से फिल्टर नहीं कर सकती है तथा इस वजह से पेशाब का रंग परिवर्तन होना शुरू हो जाता है और इसे प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक माना जाता है.

2- स्तनों मे सूजन आना और रंग गहरा होना

पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण में एक प्रमुख लक्षण यह है की अंडा फटने के बाद गर्भावस्था की शुरुआत में गर्भवती महिला के ब्रेस्ट में प्रोजेस्ट्रोन हॉर्मोन की मात्रा बढ़ने के कारण सूजन आने लगती है और महिला के स्तन काफी संवेदनशील हो जाते हैं, जिन को छूने भर से ही दर्द का एहसास होने लगता है. इसके अलावा निप्पल के आसपास के रंग में परिवर्तन होने लगता है तथा यह और गहरा हो जाता है, जिससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आप प्रेग्नेंट है.

3- आलस और थकान आना

प्रेगनेंसी के लक्षण यह भी है की प्रेगनेंसी के फर्स्ट वीक में ही आलस और थकान महसूस होना शुरू हो जाता है. इसका कारण यह है की प्रेग्नेंट होने पर गर्भवती स्त्री के शरीर के विभिन्न अंगों में हल्का दर्द होना शुरू हो जाता है, जिसकी वजह से आलस और थकान आना शुरू हो जाता है.

4- लगातार चक्कर आना

पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण में प्रमुख लक्षण है लगातार चक्कर आना. किसी भी महिला के गर्भवती होने पर उसके शरीर में हार्मोनल बदलाव आना शुरू हो जाता है, जिसकी वजह से लगातार कभी कम तो कभी ज्यादा चक्कर आने तथा मितली आना शुरू हो जाता हैं. अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो आपको प्रेगनेंसी टेस्ट जरूर करना चाहिए या किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए. एक महीने की प्रेगनेंसी के लक्षण लगने पर गर्भावस्था की जांच कराना अगर किसी वजह से संभव नहीं हो तो आप घर पर ही घरेलू तरीको से प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकते हैं.

5- गैस और कब्ज का होना

एक महीने की प्रेगनेंसी के लक्षण में गैस और कब्ज का होना भी गर्भवती होने का मुख्य संकेत होता है. अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण में गैस और कब्ज होने पर प्रेगनेंट होने का संकेत ही समझें तथा इसका कोई भी ट्रीटमेंट बिना डॉक्टर की सलाह से नहीं लेवे क्योंकि ऐसा करने पर आपके गर्भ के लिए खतरा हो सकता है और मिसकैरेज होने की संभावना बन सकती है.

यह भी पढ़े-

6- खाने के प्रति आकर्षण बढ़ना

प्रेगनेंसी के शुरुआती लक्षणों में यह भी है प्रेगनेंट महिला को खाने की वस्तुओं के लिए उसका आकर्षण ज्यादा बढ़ जाता है. पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण में एक यह भी है की गर्भावस्था की शुरुआत में गर्भवती महिला को हर वक्त कुछ खास और अलग खाने का मन करता है. इस वजह से प्रेग्नेंट महिला की डेली डाइट की मात्रा भी इस समय में काफी बढ़ जाती है.

7- बॉडी टेंपरेचर बढ़ना

अंडा फटने के बाद पीरियड आने से पहले गर्भावस्था के लक्षण में प्रमुख हैं की इस दौरान प्रेगनेंट महिला के बॉडी का टेंपरेचर अन्य दिनों से ज्यादा होने लगता है. गर्भवती महिला के शरीर का तापमान बढ़ना गर्भावस्था का शुरूआती संकेत हो सकता है.

8- मासिक धर्म आना बंद हो जाना

मासिक धर्म प्रत्येक महिला को हर महीने आता है. किसी को नियमित मासिक धर्म आता है तथा किसी महिला को अनियमित मासिक धर्म आता है. लेकिन मासिक धर्म बंद होने पर आप मान सकते हैं कि आपके गर्भवती होने की संभावना बहुत ज्यादा है. मासिक धर्म बंद होने पर प्रेगनेंसी का मुख्य लक्षण माना जाता है.

9- सिर दर्द होना

हर महिला के मन में यह सवाल होता है कि प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है तो प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक के अन्तर्गत शुरुआती दिनो में प्रेगनेंट महिला के सिर में दर्द होने लगता हैं जिसका कारण यह है की गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में ब्लड लेवल बढ़ने लगता हैं, जिसकी वजह से हल्का सर दर्द होने लगता है. प्रेगनेंसी पीरियड बढ़ने के साथ-साथ सर दर्द भी कम होने लगता है.

10- अचानक मूड परिवर्तन होना

अगर अचानक से आपके मूड में चेंज आना शुरू हो जाए जैसे कोई वस्तु या भोजन अच्छा लगने लगे वो ही वस्तु या भोजन आपको थोड़ी देर बाद बेकार लगने लगता है. इस तरह अचानक मूड परिवर्तन होना भी गर्भवती होने का संकेत होता है.

11- सुंगने में संवेदनशीलता महसूस हो

यदि आपको आम दिनों की अपेक्षा सुगंध अथवा बदबू के प्रति ज्यादा संवेदनशीलता महसूस होती हो तो, समझिए कि आप गर्भवती हो सकती है.

12- कमर दर्द होना

आम दिनों में यदि आपको कमर दर्द नहीं होता है और और ओवुलेशन पीरियड के बाद अचानक से आपके कमर में दर्द होना शुरू हो जाए तो समझ लीजिए कि आप गर्भवती है. किसी भी महिला के गर्भवती होने पर उसके कमर के अस्थि बंध खुलने के कारण कमर दर्द होना शुरू हो जाता है.

13- मासिक धर्म जैसा महसूस होना

ओवुलेशन के बाद प्रेगनेंसी की शुरुआत में मासिक धर्म जैसे लक्षण महसूस होना सामान्य बात है. इन संकेतों में प्रमुख हैं पेट में ऐंठन महसूस होना, शरीर में दर्द होना आदि. यदि आपको यह सभी महसूस हो तो आप मान सकते की आप गर्भवती हैं.

14- अन्य लक्षण

इसके आलावा कुछ अन्य संकेत जैसे उल्टी आना, खट्टा खाने का मन करना, जी मिचलाना, सांस लेने में दिक्कत, यौन क्रिया की चाहत बढ़ जाना आदि भी गर्भवती होने के लक्षण होते हैं.

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण, प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है, प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक, पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण

प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है

प्रेगनेंसी के लक्षण सामान्यतः अंडा फटने के बाद यानी ओवुलेशन के बाद फर्स्ट वीक में ही दिखते हैं लेकिन हम इसे इतना जल्दी पहचान नहीं पाते हैं. प्रेगनेंसी के लक्षण दिखने में सबसे ज्यादा असमंजस तब रहता है जब गर्भावस्था शुरू ही होती है यानी प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक सबसे कम समझ में आते हैं. इस समय आप कंफ्यूज रहते हैं कि आप प्रेग्नेंट है या नहीं. सामान्यत पीरियड्स बंद होने तथा उल्टी और मतली आने को ही गर्भावस्था के लक्षण माने जाते हैं लेकिन पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण भी दिखाई देते हैं जिन्हें आप समझ नहीं पाती है. अंडा फटने के बाद यानी ओवुलेशन के बाद गर्भवती महिला के शरीर में कुछ और बदलाव भी होते हैं, जिन्हें प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक कहा जाता है. अब आपको यह तो पता चल गया होगा की प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है. गर्भधारण के इन संकेतों के बारे में ऊपर विस्तार से जानकारी दी गई है.

इस तरह आप समझ गए होंगे कि अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण क्या होते हैं तथा प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है. गर्भवती होने का पता लगाने के लिए महावारी आने तक का इंतजार नहीं करके ऊपर लिखित पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण को पहचान कर आप अपने गर्भवती होने का पता लगा सकते हैं.

और नया पुराने