Trending

घर पर गर्भावस्था की जांच pregnancy test kit at home in Hindi

आज की पोस्ट में हम गर्भावस्था परीक्षण या प्रेगनेंसी टेस्ट के बारे में बात करेंगे  आप घर पर ही गर्भावस्था या प्रेगनेंसी का पता कैसे कैसे लगा सकते हैं अतार्थ, प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल घर पर कैसे करते हैं, इस बारे में आज बात करेंगे.
गर्भवती स्त्री घर पर ही आसानी से गर्भावस्था की जांच (pregnancy test at home) कर सकती हैं. गर्भावस्था की जांच घर पर ही करने हेतु बाजार में अनेक प्रकार की गर्भावस्था जांच किट (pregnancy test kit) उपलब्ध हैं. तो आज की की पोस्ट में चर्चा करेंगे कि प्रेग्नेंट महिला घर पर ही प्रेगनेन्सी टेस्ट कैसे कर सकती है.

कैसे करे घर पर गर्भावस्था की जांच
How use pregnancy test kit at home in Hind
i
हमें हमारे एक पाठक से सवाल मिला था कि प्रेगा न्यूज किट से प्रेगनेंसी कैसे चेक करते हैं तो घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए सबसे पहले आपको बाजार से एक प्रेगनेन्सी टेस्ट किट खरीदना होगा. इस प्रेगनेन्सी टेस्ट किट को खोलने पर एक स्ट्रिप निकलेगी. सुबह उठकर पहले मुत्र की कुछ बूंदे प्रेगनेन्सी टेस्ट किट स्ट्रिप पर डाले फिर कुछ समय के लिए इंतजार करे. इसके बाद देखे की गर्भावस्था जांच किट में एक लाइन आई है या दो लाइन आई है. यदि स्ट्रिप में एक लाईन आई है तो आप गर्भवती नही है और जांच स्ट्रिप में दो लाईन आई है तो आप प्रेग्नेंट है.
Ghar par garbhavastha test in Hindi at home, pregnancy test in Hindi language at home, ghar par pregnancy test kaise Kare, pregnant test at home in Hindi language, ghar par pregnant test kaise Kare
गर्भावस्था जांच किट काम कैसे करता है.
How to work Preganacy test kit in hindi.

गर्भावस्था जांच किट के इस्तेमाल के लिए यूरिन अथवा मूत्र का सैंपल काम में लिया जाता है जिससे यह यूरिन में मौजूद HCG हार्मोन का पता लगाता है. अगर HCG हार्मोन मूत्र में मौजूद होता है तो यह दो लाइन दिखता है, जिसका मतलब है कि आप गर्भवती है और यदि मूत्र में HCG हार्मोन मौजूद नहीं होता है तो यह एक लाइन दिखाता है, जिसका मतलब है कि आप प्रेग्नेंट नहीं है.
प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए ?
डिजिटल प्रेगनेंसी टेस्ट किट
आजकल बाजार में डिजिटल प्रेगनेंसी टेस्ट किट भी उपलब्ध होने लगे हैं. डिजिटल प्रेगनेंसी टेस्ट किट ज्यादा संवेदनशील होते हैं यानी की यह नॉन-डिजिटल प्रेगनेंसी टेस्ट किट के मुकाबले ज्यादा तेज होते हैं. दोनों में मुख्य अंतर यह होता है कि जहां डिजिटल प्रेगनेंसी टेस्ट, यूरिन में HCG हार्मोन की मात्रा होने पर ही प्रेग्नेंट होने का पता लगा लेता है वहीं नॉन डिजिटल प्रेगनेन्सी टेस्ट किट, यूरिन में हार्मोन की मात्रा होने पर ही गर्भवती होने का पता लगा पाता है. लेकिन पीरियड मिस होने के 10 दिन बाद टेस्ट करने पर नॉन डिजिटल प्रेगनेन्सी टेस्ट किट भी 99% एक्यूरेट रिजल्ट देता है. इसके आलावा डिजिटल प्रेगनेंसी टेस्ट किट में पॉजिटिव या नेगेटिव का साइन सक्रिय पर दिखता है वहीं नॉन डिजिटल प्रेगनेन्सी टेस्ट किट में यह एक लाइन या दो लाइन द्वारा परिणाम बताया जाता है.

प्रेगनेंसी टेस्ट करने का उचित समय
Right time for pregnancy test at Home in Hindi

गर्भवती होने की जांच यदि आप घर पर कर रहे हो तो सुबह उठते ही सबसे पहले मूत्र से प्रेगनेंसी टेस्ट करें, क्योंकि सुबह के यूरिन में अन्य तरल मिश्रित नहीं होते हैं तथा मूत्र में एचसीजी हार्मोन का स्तर भी अन्य समय के मुकाबले ज्यादा होता है. इससे गर्भावस्था की जांच में गलत परिणाम आने की संभावना बहुत कम हो जाती है.

गर्भावस्था जांच का परिणाम नेगेटिव या प्रेगनेंसी टेस्ट नेगेटिव आने पर क्या करें?
यदि आपको लगता है कि आप गर्भवती है, लेकिन प्रेगनेंसी टेस्ट किट की जांच में आपका प्रेगनेंसी टेस्ट रिजल्ट नेगेटिव आता है, तो घबराइए नहीं कई बार जल्दबाजी में जांच करने से गर्भावस्था परीक्षण का परिणाम नकारात्मक आ जाता है. इसलिए आप 72 घंटे बाद फिर से गर्भावस्था जांच किट की मदद से से प्रेगनेंसी टेस्ट कीजिए.
प्रेगनेंसी टेस्ट किट गलत भी हो सकता है क्योंकि कई बार ऐसा भी होता है गर्भावस्था जांच किट सही नहीं होता है या एक्सपायर्ड होता है, जिसकी वजह से भी गलत परिणाम प्राप्त हो सकते हैं. इसके अलावा दिन में किसी भी समय गर्भावस्था की जांच करने से भी इसके परिणाम पर असर पड़ता है. इसलिए आपको सुबह के समय ही गर्भावस्था की जांच करनी चाहिए.

गर्भावस्था जांच में सावधानियां
Precautions of pregnancy test at home.

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करते समय नीचे लिखी सावधानियों का ध्यान रखें-
1- पीरियड मिस होने के 8 से 10 दिन बाद ही प्रेगनेंसी टेस्ट करें.
2- प्रेगनेंसी टेस्ट हमेशा सुबह उठते ही पहले मूत्र से ही जांच करें.
3- प्रेगनेंसी टेस्ट या गर्भावस्था जांच का रिजल्ट नेगेटिव आने पर 72 घंटे बाद सावधानीपूर्वक दोबारा जांच करें.
4- गर्भावस्था जांच का रिजल्ट पॉजिटिव आने पर पास के अस्पताल या स्त्री रोग विशेषज्ञ से संपर्क कर गर्भवती होने की पुष्टि जरूर करें.

घर पर गर्भावस्था जांच के फायदे
Advantage of pregnancy test at home

प्रेगनेंसी टेस्ट किट की मदद से घर पर ही गर्भावस्था की जांच से मुख्य फायदा यह है कि आप घर पर ही गर्भवती होने की पुष्टि कर सकते हैं. घर पर ही प्रेगनेंसी टेस्ट करके आप अस्पताल या जांच के अंदर तक जाने की झंझट से बच सकते हैं लेकिन प्रेगनेंसी टेस्ट किट से रिजल्ट पॉजिटिव आने पर आप जरूर अस्पताल से संपर्क करें.

प्रेगनेंसी का कितने समय बाद पता चलता है या पीरियड के कितने दिनों बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करें?
जब किसी महिला को पीरियड के बंद हुए 10 दिन हो जाए तो उस महिला को प्रेगनेंसी टेस्ट जरूर करना चाहिए. यानी कि पीरियड के बंद होने के 8 से 10 दिनों बाद प्रेगनेंसी का पता चल जाता है. हमसे हमारे पाठक ने पूछा था कि प्रेगा न्यूज़ प्रेगनेंसी टेस्ट कब करें?

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post