Trending

बच्चा गिराने की दवा टेबलेट नेम लिस्ट प्राइस । मिफेजेस्ट किट, अनवांटेड किट हिंदी में

यदि आप बच्चा गिराने की दवा टेबलेट नेम लिस्ट प्राइस के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आज की पोस्ट आपके लिए है. आज की पोस्ट में हम विभिन्न बच्चा गिराने की दवा गोली इंजेक्शन आदि के ब्रांड और टैबलेट के नाम तथा उसकी कीमत सहित पूरी लिस्ट प्रस्तुत करेंगे. बच्चा गिराने की टेबलेट नेम लिस्ट प्राइस आदि के बारे में जानने से पहले यह जान लेना जरूरी है कि गर्भपात की गोली और गर्भनिरोधक गोली में अंतर होता है. गर्भनिरोधक गोली का उपयोग, गर्भधारण से बचने हेतु किया जाता है जबकि गर्भपात की गोली का उपयोग, गर्भधारण हो जाने के बाद अबॉर्शन करने हेतु किया जाता है.
कई बार विवाहित और अविवाहित दंपति एक समय विशेष में बच्चा नहीं चाहते हैं, इसलिए गर्भधारण करने से बचने हेतु विभिन्न सावधानियां अपनाते हैं. लेकिन गर्भधारण से बचने की सावधानियां रखने के बाद भी कई बार संबंध बनाने के बाद गर्भधारण हो जाता हैं. इस तरह अनचाहे गर्भधारण के बाद गर्भवती महिला को यही चिंता शुरू हो जाती है कि अब गर्भ को कैसे गिराए अतार्थ गर्भपात कैसे करें. तब उनके सामने एक रास्ता बचता है की गर्भपात की गोली दवा इंजेक्शन का इस्तेमाल करे लेकिन यह सब कभी भी बिना डॉक्टर की सलाह कि नहीं करना चाहिए नहीं तो आप किसी गंभीर समस्या में फंस सकते हैं. हमारे एक पाठक ने सवाल किया की बच्चा गिराने की दवाई गोली बताइए तो इस बारे में जानकारी तो हम दे देंगे लेकिन इन दवाओं को बिना डॉक्टर की पर्ची पर खरीदा भी नहीं जा सकता है और खरीदना भी नहीं चाहिए क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए जरूरी होता है कि आप किसी डॉक्टर या विशेषज्ञ की देखरेख में ही गर्भपात करवाएं करवाएं.

बच्चा गिराने की गोली दवा मेडिसिन टेबलेट नेम लिस्ट प्राइस, गर्भपात की दवा गोली, गर्भ गिराने की दवा गोली टेबलेट
{tocify} $title={Table of Contents}

बच्चा गिराने की दवा में कौन से साल्ट होते हैं

बच्चा गिराने वाली दवा में सामान्यत दो तरह के साल्ट यानी तत्व का उपयोग किया जाता है जिनके नाम है, मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल. इन दोनों साल्ट के उपयोग से ही गर्भपात की गोलियां का विभिन्न दवा कंपनियों द्वारा निर्माण होता है. इन दोनो टेबलेट के उपयोग के बीच 36 से 48 घंटे का अंतराल रखना होता हैं. मिफेप्रिस्टोन को जहां मुंह के द्वारा लेना होता हैं वहीं मिसोप्रोस्टोल का इस्तेमाल मुंह और वेजिना दोनो मे हो सकता है तथा इसके बारे में विस्तार से वर्णन आगे करेंगे.

यह भी पढे- गर्भपात के लिए तुलसी का काढ़ा कैसे बनाये

बच्चा गिराने की दवाई काम कैसे करती हैं

गर्भ गिराने की दवा गोली में मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल तत्व होते हैं जो प्रोजेस्टेरोन हार्मोन को बाधित करते हैं तथा गर्भवती महिला के गर्भाशय में संकुचन शुरू करते है, जिसकी वजह से गर्भपात यानी अबॉर्शन हो जाता है. यह प्रोजेस्टेरोन हार्मोन ही सुरक्षित गर्भावस्था के लिए जरूरी होता है तथा इसे बाधित करने से गर्भपात हो जाता है और यही बच्चा गिराने की दवाई का मुख्य कार्य होता हैं.

यह भी पढे- गर्भपात के आयुर्वेदिक उपाय से मेथी, तुलसी, पपीते के बीज, इलायची, जायफल से गर्भपात कैसे करें

बच्चा गिराने की टेबलेट नेम प्राइज लिस्ट

गर्भपात की गोली में मुख्यत मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल नामक तत्व ही पाए जाते हैं लेकिन इनकी पैकिंग अलग-अलग कंपनियां अपने नाम से करती है. भारतीय बाजार में मिलने वाली विभिन्न गर्भपात करने वाली दवाई का विवरण निम्न लिखित है-

1- मिफेजेस्ट किट (Mifegest kit)

मिफेजेस्ट किट का उपयोग अबॉर्शन करने के लिए सबसे ज्यादा किया जाता है. बच्चे गिराने की मेडिसिन में इसका उपयोग ज्यादा किया जाता है. गर्भपात करने के लिए मिफेजेस्ट किट में 5 गोलियां होती हैं. यह गर्भ गिराने की गोली मुख्यत गर्भवती महिला के गर्भाशय में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन को बाधित करती हैं जबकि आप जानते हैं कि प्रोजेस्टेरोन हार्मोन एक स्वस्थ गर्भावस्था के लिए बहुत जरूरी होता है. इस तरह इस हार्मोन को प्रभावित करके गर्भपात करने की यह गोलियां किसी भी भ्रूण के विकास के लिए आवश्यक एनवायरमेंट को खत्म कर देती है, जिससे भ्रूण नष्ट होकर गर्भाशय से बाहर निकल जाता है. गर्भ गिराने की इस दवा का उपयोग 6 से 8 सप्ताह यानी कि डेढ से दो महीने की प्रेगनेंसी खत्म करने हेतु किया जा सकता है.

मिफेजेस्ट किट खाने की विधि हिंदी में । मिफेजेस्ट किट खाने का तरीका

Use of Mifegest kit in Hindi: इस किट में पांच गोलियां होती हैं जिनमे से एक बड़ी तथा चार छोटी टेबलेट होती है. मिफेजेस्ट किट खाने की विधि हिंदी में इस प्रकार है की इसमें से सबसे बड़ी गोली को सबसे पहले खाना होता है. गर्भपात हेतु सुबह थोड़ा सा नाश्ता करने के पश्चात बड़ी वाली टेबलेट जिसमे मिफेप्रिस्टोन तत्व होता हैं, को पानी के साथ लेना होता है. बड़ी गोली लेने के बाद यदि 48 में गर्भपात नही होता है तो बाकी बची चारो छोटी गोलियां भी लेनी होती हैं जिन्हे आप खा भी सकते है और वेजिना में भी रख सकते है. इन चारो छोटी टेबलेट में मिसोप्रोस्टोल तत्व पाया जाता है. इस तरह मिफेजेस्ट किट खाने का तरीका आपको समझ में आ गया होगा. वैसे भी आपको इसका सेवन डॉक्टर की परामर्श के अनुसार ही करना है और वह आपको इस बारे में अच्छी तरह से बता देंगे.
मिफेजेस्ट किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती हैं तो सामान्यत इसके एक सप्ताह बाद तक ब्लीडिंग होती हैं तथा यदि एक सप्ताह से ज्यादा समय तक ब्लीडिंग होती है तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें क्योंकि यह अपूर्ण गर्भपात के लक्षण हो सकते हैं.

मिफेजेस्ट किट प्राइस (Mifegest kit price list in hindi)

मिफेजेस्ट किट की वर्तमान कीमत ₹435 है तथा इसकी कीमत में मामूली घटाव या बढ़ोतरी समय अनुसार होती रहती है तथा इसे आप बिना डॉक्टर की पर्ची के नहीं खरीद सकते हैं.

मिफेजेस्ट किट के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Mifegest kit in hindi)

जैसा की बच्चा गिराने की दवा का कुछ न कुछ साइड इफेक्ट्स जरूर होता हैं उसी तरह ही मिफेजेस्ट किट सेवन से कुछ साइड इफेक्ट्स होते है जैसे जी मिचलाना, उल्टी होना, दस्त होना आदि. कुछ महिलाओं में गर्भपात की गोली के बाद पेट में दर्द जैसे साइड इफेक्ट भी देखे जाते है. यदि यह लक्षण गोली खाने के 1 सप्ताह से 10 दिन बाद भी दिखे तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें.

मिफेजेस्ट किट खाने का तरीका, अनवांटेड किट खाने का तरीका, मिफेजेस्ट किट प्राइस price, अनवांटेड किट की कीमत प्राइस लिस्ट

2- अनवांटेड किट (Unwanted Kit)

अनवांटेड किट का प्रयोग भी गर्भपात की गोली के रूप में किया जाता है. मिफेजेस्ट किट के बाद सबसे ज्यादा अनवांटेड किट का उपयोग ही बच्चे गिराने की टेबलेट दवाई के रूप में किया जाता है तथा अबोर्शन करने हेतु अनवांटेड किट में 5 गोली होती है. अनवांटेड किट भी मिफेजेस्ट टेबलेट की तरह ही उपयोग होती है तथा उसी तरह ही कार्य करती है. अनवांटेड किट का प्रयोग 10 सप्ताह यानी दो से ढाई महीने तक की गर्भावस्था को खत्म करने हेतु किया जाता है. इसमें भी बड़ी टेबलेट में मिफेप्रिस्टोन और छोटी टैबलेट में मिसोप्रोस्टोल तत्व होता हैं.

अनवांटेड किट खाने की विधि हिंदी । अनवांटेड किट खाने का तरीका

Use of Unwanted Kit in Hindi: अनवांटेड किट खाने का तरीका भी मिफेजेस्ट किट यूज करने जैसा ही होता हैं तथा दोनो की पैकिंग भी एक जैसी ही होती है. अनवांटेड किट खाने की विधि के तहत बड़ी गोली पहले लेनी होती है तथा इसके 48 घंटे बाद बाकी बची चारो छोटी गर्भपात की गोलियां लेनी होती है. यदि बड़ी गोली लेने के बाद ब्लीडिंग होना शुरू हो जाए तो छोटी टेबलेट लेने की जरूरत नहीं होती हैं. अनवांटेड किट में भी बड़ी गोली में मिफेप्रिस्टोन तथा चारो छोटी टैबलेट में मिसोप्रोस्टोल तत्व पाया जाता है. अनवांटेड किट का प्रयोग हमेशा डॉक्टर से परामर्श लेके ही करना चाहिए.

अनवांटेड किट की कीमत प्राइस लिस्ट (Unwanted abortion kit price list in hindi)

अनवांटेड किट की कीमत वर्तमान में ₹390 है तथा इसकी प्राइस में समयानुसार परिवर्तन होता रहता है. यह दवाई डॉक्टर की पर्ची पर ही उपलब्ध होती हैं.

अनवांटेड किट के साइड इफेक्ट्स । Side effects of Unwanted Kit in Hindi

अनवांटेड किट के साइड इफेक्ट्स में जी मिचलाना, उल्टी-दस्त होना तथा पेट दर्द व रक्तस्राव आदि होते हैं. अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद तक ब्लीडिंग होती है तो सामान्यत 10 से 15 दिन होती हैं तथा इससे ज्यादा रहने पर डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

यह भी पढे- अशोकारिष्ट के फायदे, उपयोग । Ashokarishta ke fayde uses benefits in hindi

3- फाइब्रोइज टैबलेट (Fibroease Tablet)

फाइब्रोइज टैबलेट का उपयोग भी गर्भ गिराने की गोली के रूप में किया जाता है. मिफेजेस्ट और अनवांटेड किट की तरह फाइब्रोइज टैबलेट भी गर्भावस्था के लिए आवश्यक प्रोजेस्टेरोन हार्मोन को बाधित करके अबॉर्शन में सहायक होता है. इस गर्भ गिराने की टेबलेट में मिफेप्रिस्टोन होता हैं तथा मिसोप्रोस्टोल हेतु अन्य दवा ली जा सकती हैं.

फाइब्रोइज टैबलेट की प्राइस लिस्ट

फाइब्रोइज टैबलेट की इस समय कीमत ₹695 है तथा टैक्स में परिवर्तन व अन्य कारणों से इसकी कीमत में थोड़ा बहुत चेंज होता रहता है.

फाइब्रोइज टैबलेट के साइड इफेक्ट्स

फाइब्रोइज टैबलेट के उपयोग से उल्टी-दस्त होना, गर्भाशय में ऐंठन, ब्लीडिंग जैसे साइड इफेक्ट हो सकते हैं.

4- साइटोलॉग टेबलेट (Cytolog Tablet)

साइटोलॉग भी बच्चा गिराने की दवाई है. साइटोलॉग दवाई में सिर्फ मिसोप्रोस्टोल साल्ट ही होता है जिससे गर्भाशय के संकुचन ज्यादा होकर अबोर्शन हो जाता है. इस बच्चा गिराने की गोली का उपयोग मिफेप्रिस्टोन की गोली के बाद भी किया जा सकता है.

साइटोलॉग दवा की प्राइस लिस्ट

साइटोलॉग दवा की सामान्यत कीमत ₹75 है. साइटोलॉग दवा गर्भपात करने की बाकी गोलियों से सबसे सस्ती दवा है.

साइटोलॉग दवा के साइड इफेक्ट्स

साइटोलॉग दवा के मुख्य साइड इफेक्ट्स है जी मिचलाना, उल्टी-दस्त होना, पेट में ऐंठन होना, हैवी ब्लीडिंग आदि.

यह भी पढे- गर्भपात की गोली दवा इंजेक्शन । Zitotec 200, Mensuline forte, Mifegest, ऑक्सीटोसिन

बच्चा गिराने की टेबलेट के उपयोग में सावधानियां

बच्चा गिराने की टेबलेट नेम लिस्ट प्राइस के बारे में तो आपने जान लिया, अब गर्भ गिराने की दवा के उपयोग में रखी जाने वाली सावधानियों के बारे में भी जान लेते हैं क्योंकि बिना सावधानी के इन दवाओं का सेवन करना नुकसानदायक साबित हो सकता है.
  • खुद की इच्छा से कभी भी इन दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए. हमेशा डॉक्टर से सलाह लेकर ही बच्चा गिराने की दवाई का उपयोग करना चाहिए.
  • डॉक्टर आपके गर्भावस्था के समय को ध्यान में रखकर उपयुक्त गर्भपात की गोली के बारे में सलाह देंगे, उस मेडिसिन का प्रयोग आपको करना है.
  • यदि 12 से 15 दिन से ज्यादा ब्लीडिंग हो तो यह खतरनाक हो सकता है. ऐसा होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करें.
  • अबोर्शन हो जाने के कुछ दिनों बाद वापिस अल्ट्रासाउंड जरूर कराएं, जिससे पता चल सके कि गर्भाशय में भ्रूण के छोटे पार्टिकल तो नहीं रह गए हैं.
  • अबोर्शन प्रक्रिया के दौरान साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें ताकि संक्रमण फैलने का डर नहीं रहे.
गर्भ गिराने की दवा गोली के साइड इफेक्ट्स

गर्भ गिराने की टेबलेट के काफी साइड इफेक्ट्स होते हैं जिनमें उल्टी-दस्त होना, पेल्विक दर्द होना, जी मिचलाना, मांसपेशियों में दर्द होना, बुखार आना, वेजिना से सफेद डिस्चार्ज आना, हेवी ब्लीडिंग होना आदि प्रमुख हैं. यदि यह साइड इफेक्ट्स 10 दिन के बाद भी कम नहीं हो तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए.

बच्चा गिराने की दवा टेबलेट नेम लिस्ट प्राइस के बारे में आज की पोस्ट आपको कैसी लगी, हमे कमेंट करके जरूर बताएं. आपके विचार हमारे लिए बहुत ही कीमती हैं. इस पोस्ट में आपने साइटोलॉग टेबलेट, फाइब्रोइज टैबलेट, मिफेजेस्ट किट, अनवांटेड किट खाने की विधि हिंदी में यानी गर्भ गिराने की दवा गोली खाने का तरीका क्या है इस बारे में विस्तार से जाना है.

और नया पुराने