Trending

प्रेगनेंसी रोकने के उपाय हिंदी में । प्रेग्नेंट होने से कैसे बचें

यदि आप कुछ समय के लिए बच्चा नही चाहते हैं, तो प्रेगनेंसी रोकने के उपाय आज के समय में काफी है. क्योंकि वर्तमान समय में मेडिकल क्षेत्र के काफी एडवांस होने से प्रेगनेंसी से बचने के ढेरों ऑप्शन उलब्ध हो गए हैं, जिन्हें उपयोग में लाकर गर्भवती होने से बचा जा सकता है यानी प्रेग्नेंट होने से बच सकते हैं.
प्रेगनेंसी रोकने के उपाय, गर्भवती होने से कैसे बचे इसके लिए उपाय, पुरूष कंडोम फीमेल कंडोम गर्भनिरोधक गोली दवा गर्भनिरोधक इंजेक्शन डायाफ्राम से प्रेगनेंसी रोकने के उपाय

प्रेगनेंसी रोकने के उपाय
Tips to Stop Preganacy in Hindi

जैसा कि हमने ऊपर बताया आज के मेडिकल साइंस में प्रेगनेंसी रोकने के उपाय काफी उपलब्ध है जिनको उपयोग में लाकर आप प्रेग्नेंट होने से बच सकते हैं. प्रेगनेंसी रोकने के प्रमुख उपाय निम्नलिखित है-
प्रेगनेंसी रोकने के लिए नेचुरल फैमिली प्लानिंग
आप दवाई और मेडिकल डिवाइसेस के प्रयोग के बिना भी प्रेग्नेंट होने से बच सकती हैं. प्रेग्नेंसी रोकने का सबसे अच्छा तरीका यह है की ओवुलेशन पीरियड के समय संबंध नहीं बनाना चाहिए. ओवुलेशन पीरियड का समय सामान्यत माहवारी के 14 से 16 वें दिन के बीच का होता है. इस समय में संबंध बनाने से परहेज कर प्राकृतिक रूप से गर्भवती होने से बचा जा सकता है.
यह भी पढ़े-
प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय
प्रेगनेंसी में वाइट डिस्चार्ज यानी सफेद पानी की समस्या
प्रेगनेंसी रोकने के लिए पुरुष कंडोम का उपयोग
प्रेगनेंसी रोकने के लिए संबंध बनाने के दौरान अगर पुरुष कंडोम का उपयोग किया जाए तो प्रेग्नेंट होने की संभावना खत्म हो जाती है. यह शुक्राणुओं को महिला के शरीर में जाने से रोकता है. हालांकि अगर कंडोम को ठीक ढंग से उपयोग में नही लिया गया हो या कंडोम की क्वालिटी निम्नस्तर की हो तो प्रेग्नेंसी हो सकती है.

प्रेगनेंसी रोकने के लिए फीमेल कंडोम का उपयोग
गर्भवती होने से रोकने के लिए पुरुष कंडोम की ही तरह मेडिकल स्टोर पर फीमेल कंडोम भी उपलब्ध होता है. यह पुरुष के शुक्राणु को प्रवेश नहीं करने देता है. इसके उपयोग के बाद प्रेग्नेंसी की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है. प्रेगनेंसी रोकने के लिए फीमेल कंडोम का उपयोग, पुरुष कंडोम के मुकाबले कम किया जाता है.

प्रेगनेंसी रोकने के लिए डायफ्राम का उपयोग
डायफ्राम एक मेडिकल डिवाइस है, जिसे संबंध बनाने से कुछ घण्टे पहले महिला के वजाइना में डाल दिया जाता है. संबंध बनाने के 24 घण्टे बाद इसे वापिस हटा लिया जाता है. प्रेगनेंसी रोकने के इस उपाय का प्रयोग करके 90% तक प्रेग्नेंट होने की संभावना कम हो जाती है.

प्रेगनेंसी रोकने के लिए गोली दवा का उपयोग
प्रेग्नेंसी रोकने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों और दवा का उपयोग आम बात है. अगर इन प्रेगनेंसी रोकने की गोली दवाइयों का उपयोग सही समय पर किया जाए तो प्रेग्नेंसी की संभावना 99 प्रतिशत खत्म हो जाती है.

गर्भनिरोधक इंजेक्शन का प्रयोग
प्रेगनेंसी रोकने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों की तरह ही गर्भनिरोधक इंजेक्शन भी उपलब्ध है. एक बार गर्भनिरोधक इंजेक्शन लगाने के बाद 3 महीने तक प्रेगनेंसी की संभावना समाप्त हो जाती है. यह गर्भनिरोधक इंजेक्शन महिला के गर्भाशय ओवुलेशन चक्र को रोक देता है जिससे महिला गर्भवती नहीं होती हैं.

प्रेगनेंसी रोकने के लिए बर्थ कंट्रोल रिंग का उपयोग
बर्थ कंट्रोल रिंग को महिला के वेजिना में डाला जाता है. इस गर्भनिरोधक रिंग का उपयोग सही तरीके से करने पर एक महीने तक प्रेग्नेंट होने से बचा जा सकता है, इसे हर महीने चेंज करना पड़ता है.

प्रेगनेंसी रोकने के लिए नसबंदी
नसबंदी प्रेगनेंसी रोकने का स्थाई तरीका होता है. नसबंदी पुरुष और महिला दोनों के ही हो सकती है. नसबंदी गर्भवती होने से बचने का स्थाई उपाय है, यदि आप नसबंदी कराने के बाद वापिस बच्चा चाहते हैं तो नसबंदी को खुला भी सकते हैं.
यह भी पढ़े-
गर्भपात रोकने के घरेलू उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे
दवा या गोली से गर्भपात कैसे करें, abortion pill in Hindi
फल या भोजन से भी मिसकैरेज या गर्भपात हो सकता है
बच्चा गिराने की टेबलेट नेम प्राइज लिस्ट

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post