Trending

बाल मजदूरी पर हिन्दी कहानी भाग 2

बाल मजदूरी से संबधित निम्न सवाल प्राप्त हुए हैं।
1-  Bal Mazdoori par story in hindi language.
2- Bal majduri ke kuprabhav par story likhiye
3- Bal sharam par story ya essey likhiye.
4- Provide Hindi story on Bal majduri in India in Hindi language in Hindi Font.
5- बाल मजदूरी पर हिंदी कहानी लिखिए।
6- Bal majduri par hindi me story likhiye.

बाल मजदूरी पर हिन्दी कहानी भाग 2
Story on child labour in Hindi
सुजाता और रीता बचपन की सहेलियां थी । वे गांव के ही  स्कूल में पांचवी कक्षा तक साथ-साथ पढती थी। सुजाता गरीब परिवार की थी और उसके पिता खेत में मजदुरी करते थे, जबकि रीता के परिवार की आर्थिक स्थिति थोडी बेहतर थी,उसके पिता बढ़ई थे। दोनों सहेलियां पढने में अच्छी थी। कभी एक पहले स्थान पर आती ,तो कभी दूसरी ।

पर एक दिन किस्मत ने ऐसा पलटा खाया कि दोनों को एक दूसरे से अलग होना पडा । सुजाता के पिता ने पढाई छुडवा कर उसे शहर में उसकी मौसी कें पास भेजने का फैसला कर लिया । मौसी शहर मे लोगों के घरों में बर्तन धोने और झाड़ू-पोछा का काम करती थी और चाहती थी कि सुजाता भी जल्दी तो ये काम सीख जाये और अपने परिवार के लिये थोडा पैसा कमाने लगे । इस तरह एक और बच्ची बाल मजदूरी के भंवर में फंस गई। रीता को सुजाता के जाने का बडा दूख हुआ दोनों सहेलियों गले मिलकर फूटफुट कर रोई ।

पर रीता ने अपनी पढाई जारी रखी । उसने 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर ली और फिर दो वर्ष का प्रशिक्षण प्राप्त कर पडोस के गांव में प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका बन गयी । इस बीच उसने बाल मजदूरी से जीवन खराब कर चुकी सुजाता की खोज-खबर लेने की बहुत कोशिश की, पर उसे केवल इतना पता चल पाया कि सुजाता का पूरा परिवार शहर चला गया है और मात्र 15 साल की उम्र में ही सुजाता की शादी कर दी गयी है और वह अभी भी घरों में नौकरानी का काम करती है ।

इस घटना को कई वर्ष गुजर गये । रीता का भी विवाह हो चुका है । उसका पति सामाजिक कार्यकर्ता और ग्राम पंचायत का सदस्य है । पति-पत्नी, दोनों जल संरक्षण समिति के सदस्य भी हैं ।
एक दिन रीता कुछ ज़रूरी सामान लेने अपने पति के साथ शहर गई थी । जब वह वापस जाने के लिये बस स्टैण्ड पर खडी थी तो अचानक एक औरत अपने दो छोटे बच्ची के साथ आकर सामने खडी हो गई । रीता समझ नहीं पाई क्रि ये कोन उसके सामने आ गया है? 'रीता ने ध्यान से देखा तो कुछ जानी पहचानी सी सूरत लगी । उस औरत ने कहा रीता तुमने मुझे पहचाना नहीं? मैं सुजाता हू।" 'सुजाता चौंक कर रीता ने कहा, ये तुमने क्या हाल बना रखा है?"

बहुत दिनों बाद अपनी सहेली को देखकर, सुजाता उसे गले लगाकर रोने लगी । न सुजाता के शरीर पर अच्छे कपडे थे और न उसके बच्चों के शरीर पर।
सुजाता ने उसे अपनी दुखद कहानी सुनाई। शहर में मौसी का पहले ही बुरा डाल था, वह खुद बहुत परेशान थी । मुझे भी उनके साथ मिलकर बाल मजदूरी करनी पड़ी। मुझे उनके पास बहुत काम करना पडा । जब मेरे माता-पिता भी शहर आकर बस गये, तो उन्होंने मेरी शादी एक बड़ी उम्र के आदमी  से करा दी क्योंकि उसे दहेज नहीं चाहिये था । उसकी भी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी । पैसे की कमी  की कारण यह ज्यादातर गुस्से में रहता था और मुझे मारता-पीटता था । मुझे डर था कि कहीं बो पेसे के लिये मुझसे वेश्यावृति और मेरे बच्चों से बाल मजदूरी न करवाने लगे । तो अब मैं यहाँ से निकल आई । पर मैं अपने माता-पिता से भी किसी तरह की मदद की अपेक्षा नहीं कर सकती ।

रीता अपनी सहेली की हालत देखकर बहुत दुखी हुई । उसने कहा कि तुम अपना सामान बांधो, दो दिन में मैं और मेरे पति तुम्हें वापस गांव ले जाने आयेंगे । तुम्हारा घर तो वहाँ है ही । गांव के स्वयं सहायता समूह में तुम कई आय बढाने वाले कामों मैं हिस्सा ले सकती हो । तुम्हारे बच्ची को हम विद्यालय प्रबंधन समिति से बात करके स्कूल में दाखिला करवा देंगे ।

गांव में पहुंचने कं बाद जहाँ एक और सुजाता, स्वयं सहायता समूह के माध्यम से अपने परिवार को संभालने लगी, यहीं दूसरी और उसका बेटा स्कूल में और , बेटी आंगनवाडी में पूर्ण शिक्षा के लिये जाने लगी है । इस तरह सुजाता ने अपने बच्चो को अपनी तरह बाल मजदूरी के भंवर में फंसने नहीं दिया।

चर्चा के बिंदु-
० बच्चों को पढ़ाना क्यों जरूरी है?

० अपने बच्ची की जिम्मेदारी रिश्तेदारों को सौंपना क्या सही बात है?

० जबरन शोषण या किसी गलत काम के लिये कोई मजबूर करे तो क्या करना चाहिये?

बाल मजदूरी पर अन्य कहानियां
 यह बाल मजदूरी पर हिन्दी कहानी आप को कैसी लगी, हमें जरूर बताएं। इसी ही बाल मजदूरी पर कुछ अन्य कहानियां हमने और लिखी है जिसे आप यहां पर पढ़ सकते हैं- 
Hindi drama script story on child labour in India. Drama script story on child labour in Hindi language. Bal Majduri par Hindi story natak drama script on Bal shram Bal Majduri Baal mazdoori Bal majdoori in Hindi language. Hindi story on Bal majduri.

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post