Trending

Short Speech on child labour in Hindi | बाल श्रम पर हिंदी में भाषण

1- बाल श्रम व बाल मजदूरी पर हिंदी में भाषण लिखिए.
2- Write Short speech on child labour in Hindi language.
3- Provide a Speech on child labour in India in Hindi language.
4- Bal majduri par Hindi me short Speech ya bhasan likhiye.
5- Bal shram par Hindi Speech athwa bhasan bataiye.
6- बाल श्रम या बाल मजदूरी क्या है इस पर हिंदी में शॉर्ट स्पीच अथार्थ संक्षिप्त भाषण बताइए.

बाल मजदूरी या बाल श्रम पर संक्षिप्त भाषण तथा शॉर्ट स्पीच नीचे प्रस्तुत है.
बाल मजदूरी पर भाषण
Short Speech on Child labour in hindi 
हम सब भारत के नागरीक है तथा हमारा देश एक विशाल देश है.  हमारा देश में सभी धर्मों, जातियों, वेश-भूषा व संप्रदायों के लोग  निवास करते हैं. भारत ने स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद से सफलता के कुछ नये किर्तिमान स्थापित किए हैं.
लेकिन इन सबके बाद भी अनेक समस्याएँ हैं, जिनमे प्रमुख है- जनसंख्या वृद्धि, जातिवाद, भाषावाद, बेरोजगारी, महँगाई आदि. बाल श्रम या  बाल मजदूरी भी एक ऐसी ही एक समस्या है. भारत कि अधिक  जनसंख्या के कारण अनेक प्रकार की विषमताएँ विद्यमान रहती हैं. सरकारे इतनी बड़ी जनसंख्या के लिए रोज़गार, भोजन, बिजली, पानी, आवासीय व्यवस्था आदि की व्यवस्था करने में स्वयं को असमर्थ पाती है. अधिक आबादी  का नतीजा है गरीबी, भुखमरी, बीमारियाँ इत्यादि और इन सब का परिणाम है चाइल्ड  लेबर या बाल मजदूरी या बाल श्रम.

बाल मजदूरी या बाल श्रम की समस्या का जन्म प्राय: पारिवारिक निर्धनता के कारण होता है. हमारे देश में आज बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जो गरीबी की रेखा के नीचे रहकर अपना जीवन-यापन करते हैं. ऐसे गरीब लोगों को भरपेट रोटी बड़ी कठिनाई और परिश्रम के बाद प्राप्त होती है. उनका सामाजिक आर्थिक जीवन अभावों से ग्रस्त रहता है. इसलिए इनके बच्चे भी बाल श्रम या बाल मजदूरी के दलदल मे फंस जाते है. वो बच्चे पढना चाहते हैं लेकिन पढ नही पाते है. उनकी मनोभावना कुछ इस तरह होती है
       महसूस करना चाहता हूं बचपन की मौज-मस्ती,
       तारों की टिमटिमाहट मैं भी देखना चाहता हूं,
       आखिर मैं भी पढ़ना चाहता हूं,
       आखिर मैं भी पढ़ना चाहता हूं
सुखी बचपन सभी बच्चों का नैतिक व सामाजिक अधिकार है.सभी बच्चो को प्यार और अच्छी परवरिश मिलनी चाहिये. बाल श्रम या बाल मजदूरी बच्चों को बड़ों की तरह जीने पर मजबूर करता है. बाल मजदूरी या बाल श्रम के कारण बच्चों के जीवन और शारीरिक वृद्धि और विकास, दिमाग के विकास, सामाजिक और बौद्धिक जिवन पर अस्वास्थ्यकर प्रभाव पड़ता है. बाल श्रम यह बाल मजदूरी कि वजह से बच्चे बचपन के प्यारे लम्हों से दूर हो जाते है, जो हर एक के जीवन का सबसे यादगार और खुशनुमा पल होता है.
हमारे देश के साथ ही विदेशों में भी बाल श्रम या बाल मजदूरी एक बड़ा मुद्दा है जिसके बारे में हर एक व्यक्ति को जागरुक होना चाहिये. देश में बढ़ती हुई बालश्रमिकों या बाल मजदूरो की संख्या देश के लिए एक गहरी चिंता है. यदि समय रहते इसको नियंत्रित नहीं किया गया तो इसके परिणाम अत्यंत भयावह हो सकते हैं.
अत: बाल मजदूरी को जड़ से खत्म करने के लिए सबसे जरूरी है गरीबी तथा  अशिक्षा को खत्म किया जाये जो बाल श्रम का मूल कारण है. इन बच्चों के लिए दो वक्त का खाना मुहैया कराया जाये. इसके लिए सिर्फ सरकार ही नहीं आम जनता की भी इसमें सहभागिता जरूरी है.  देश में बाल श्रमिक की समस्या के समाधान के लिए प्रशासनिक, सामाजिक तथा व्यक्तिगत सभी स्तरों पर समान रूप से प्रयास आवश्यक हैं. व्यक्तिगत स्तर पर बाल श्रमिक की समस्या का निदान हम सभी का नैतिक दायित्व है. हर एक व्यक्ति जो आर्थिक रूप से सक्षम हो अगर ऐसे एक बच्चे की भी जिम्मेदारी लेने लगे तो वो दिन दुर नही जब बाल मजदूरी या बाल श्रम कि समस्या हमारे देश भाग खड़ी होगी.

बाल मजदूरी पर हिन्दी भाषा में लिखा यह भाषण आपको कैसा लगा हमे जरूर बताएं। इस विषय पर कुछ अन्य महतवपर्ण पोस्ट निम्न हैं-

बाल श्रम पर भाषण बाल मजदूरी पर भाषण संक्षिप्त भाषण शॉर्ट स्पीच ऑन चाइल्ड लेबर हिंदी में शॉर्ट स्पीच
Short Speech on child labour in Hindi language. Hindi Speech on child labour, Hindi Speech on Bal majduri, Hindi Speech on Bal shram, Bal mazdoori, Bal majdoori, Bal sharmik, Bal majduri ki samsya, Short speech on child labour in India in Hindi language. Essay on child labour in Hindi, paragraph on child labour in Hindi, Information on child labour in Hindi.


Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post